(+91) 113 551 1687 contact@syncsas.com New Delhi

Firebase In-App Messaging Android

नई दिल्ली। जियो औऱ फेसबुक की डील से देश की अर्थव्यवस्था और टेलीकम्यूनिकेशन पर क्या फर्क पड़ेगा? यह प्रश्न सबसे अधिक पूछे जा रहे हैं। इस सभी प्रश्नों के उत्तर देते हुए जानकारों ने बताया है कि इससे बाजार में कुछ सकारात्मक प्रभाव आएंगे, वहीं कुछ जानकार मान रहे हैं कि डाटा और नेटवर्क में एकरूपता से बाज़ार पर रिलायंस की कब्जे की स्थिति बनेगी।

रिलायंस की ही वेबसाइट मनी कंट्रोल डॉट कॉम ने अपनी एक रिपोर्ट में कहाकि हालाँकि उद्योग जगत में इस सौदे को लेकर कई प्रतिक्रियाएँ आई हैं। यह भारत में प्रौद्योगिकी क्षेत्र का सबसे बड़ा विदेशी प्रत्यक्ष निवेश है, जिसका प्रभाव फेसबुक की भारतीय पोर्टफोलियो कंपनियों – सोशल कॉमर्स फर्म मीशो और ऑनलाइन शिक्षण फर्म Unacademy पर पड़ेगा।

“मुझे नहीं लगता कि भारत में फेसबुक के अन्य अल्पसंख्यक निवेश बहुत अधिक प्रभावित होंगे। यह सौदा Jio के मीडिया और कंटेंट पोर्टफोलियो को लाभ पहुंचाने के लिए है, और फेसबुक और उसकी बहन फर्मों व्हाट्सएप और इंस्टाग्राम की विश्वसनीयता को बढ़ाता है, “ पहचान छिपाने की शर्त पर एक उपभोक्ता ने ऐसा कहा।

हालांकि Unacademy और Meesho आम उपयोगकर्ता आधार के माध्यम से फेसबुक से रणनीतिक इनपुट प्राप्त करते हैं, दोनों कंपनियां स्पष्ट हैं कि सिलिकॉन वैली-आधारित सोशल मीडिया दिग्गज एक निवेशक है और न तो किसी निश्चित सीमा से परे बेचना या नियंत्रण देना चाहता है।